मेटा डिस्क्रिप्शन क्या है? | Meta Description Kaise Likhte Hai

meta description kaise likhte hai

हेलो दोस्तों आपका Digital Information मैं आपका तहे दिल से स्वागत है आज मैं आपको meta description kaise likhte hai इसके बारे में A to Z जानकारी देने वाला हु।

आज के समय में ब्लॉग को शुरू करना काफी आसान है, लेकिन उसको मेंटेन करना काफी मुश्किल है।

दोस्तों आपको ब्लॉग की काफी सारी छोटी-छोटी SEO Basic को सीखना होगा अगर आप बिना यह Basic सीखे आप ब्लॉगिंग को शुरू करते हैं तो आप अपनी ब्लॉगिंग की जर्नी में कभी भी सफल नहीं हो सकते।

यह छोटी-छोटी बेसिक चीजें आपको सर्च इंजन में रैंकिंग कराने में काफी ज्यादा मदद करती हैं।

इसीलिए आपको Basic चीजें सीखते रहना चाहिए ताकि आप अपने ब्लॉग के लिए SEO को और ज्यादा improve कर सके।

इन्हीं में से एक छोटी छोटी Basic चीज जो है वो है Meta discription kya hai –

हमारे Blog के लिए meta description बहुत ही इंपॉर्टेंट है, इसके बिना आपके पोस्ट की विजिबिलिटी गूगल में संभव नहीं है।

अगर आप meta description नहीं लिखते हैं तो जो गूगल वोट खुद से ही आप का meta description लिख कर दे देता है।

अब आपको समझ में आ ही गया होगा की गूगल की नजर में मेटा डिस्क्रिप्शन कितना अहम होता है।

आज मैं आपको बताऊंगा मेटा डिस्क्रिप्शन कैसे लिखते हैं –

Meta Description क्या होता है?

Meta discription kya hai मेटा डिस्क्रिप्शन वो होता है, जब आप कोई पोस्ट लिखते हैं तो उसके अंदर एक मेटा डिस्क्रिप्शन का ऑप्शन आता है जो टाइटल के साथ दिखता है, मेटा डिस्क्रिप्शन हमारी पोस्ट किस बारे में है यह ऑडियंस को पता चल जाता है मेटा डिस्क्रिप्शन देखकर लोग समझ जाते है की पोस्ट किस बारे मे है, इसीलिए हमारे पोस्ट के लिए मेटा डिस्क्रिप्शन बहुत importent है।

अगर हम google पर कोई भी keyword search करते हैं, तो तब आपके सामने कुछ रिजल्ट निकल कर आते हैं अगर आपने कभी ध्यान दिया होगा की उस सर्च रिजल्ट में क्या-क्या दिखाई देता है तो मैं आपको बता दूं एक टाइटल होता है और एक URL होता है उसके नीचे आपको दो लाइन दिखाई देते हैं। वह जो दो लाइन होती हैं वही मेटा डिस्क्रिप्शन होती है। इसको हम मेटा डिस्क्रिप्शन कहते हैं।

मुझे लगता है कि अब आपको पता चल ही गया होगा की मेटा डिस्क्रिप्शन हमारे ब्लॉग के लिए क्यों महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़े :– Marketing Funnel Kya है?

Meta Tag क्या होता है?

मेटा टैग आपके SEO के लिए बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट है, और मेटा टैग को दो भागों में बांटा गया है

  • Meta Title
  • Meta Description

आपको मेटा टाइटल और मेटा डिस्क्रिप्शन सर्च इंजन के रिजल्ट में दिखाई देता है जब आप किसी कीवर्ड को सर्च इंजन में सर्च करते हैं, जब उसके बाद आपको रिजल्ट दिखाई देता हैं। वही टाइटल और डिस्क्रिप्शन आपको दिखाई देते हैं।

मेटा टैग आपको नजर नहीं आता है लेकिन यह search engine के लिए विजिबल होता है।

अगर आपको मेटा टैग देखना है तो आपको अपने पोस्ट को ओपन करना होगा और अपने माउस से राइट क्लिक करना होगा। अब आपको यहां पेज व्यू का सोर्स का ऑप्शन दिखाई देगा और इसके ऊपर क्लिक करके आपके सामने पोस्ट की सोर्स फाइल खुल जाएगी। उसके बाद आप हेड के नीचे मेटा टैग आपको दिखाई दे जाएगा।

Meta Description कितने प्रकार का होता है?

  1. Meta Tag यह आपके पेज के हैड मैं होता है, और जब crawler इसको पड़ता है, तो आपके पूरे आर्टिकल के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेता है, और आपको अपने मेटा टैग में मैन कीवर्ड जरूर डालना चाहिए।
  2. Meta Description Tag मेटा डिस्क्रिप्शन टैग वो होता है, जब आप कोई पोस्ट लिखते हैं तो उसके अंदर एक मेटा डिस्क्रिप्शन का ऑप्शन आता है जो टाइटल के साथ दिखता है, मेटा डिस्क्रिप्शन हमारी पोस्ट किस बारे में है यह ऑडियंस को पता चल जाता है मैटर डिस्क्रिप्शन देखकर लोग समझ जाते है की पोस्ट किस बारे मे है.
  3.  Meta Robot Tag वह होता है जब गूगल बोट आपके ब्लॉग पोस्ट को क्राउल करता है, तब आपकी पोस्ट इंडेक्स होती है।

Meta Description लिखने का उचित तरीका क्या है?

जब आप अपना आर्टिकल लिखते हैं, तो आपको अपना मेटा डिस्क्रिप्शन लिखते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1. मेटा डिस्क्रिप्शन की लेंथ

मेटा डिस्क्रिप्शन आपके लिए बहुत ही ज्यादा इंपोर्टेंट है, आपको मेटा डिस्क्रिप्शन 150 word से ज्यादा का नहीं लिखना चाहिए। अगर आप 150 से ज्यादा का डिस्क्रिप्शन लिखते हैं, तो वह गूगल के सर्च पेज में सही से दिखाई नहीं देगा जो कि एक अच्छा SEO नहीं कहलाएगा जायेगा।

2. Focus Keyword का उपयोग करे

Meta description kaise likhte hai आपको अपने मेटा डिस्क्रिप्शन के अंदर फोकस कीवर्ड को add जरूर करना चाहिए। क्योंकि जब यूजर किसी कीवर्ड को सर्च करता है, तो टाइटल के साथ-साथ डिस्क्रिप्शन में भी कीवर्ड हो तो सर्च इंजन में रैंक होने के चांसेस ज्यादा बढ़ जाते हैं।

3. Meta Description मे क्या लिखना चाहिए?

आपको मेटा डिस्क्रिप्शन के अंदर अपनी पोस्ट का एक छोटा सा हिस्सा लिखना चाहिए। ताकि लोग जब आपका पोस्ट पड़े तो उनको समझ में आ जाए कि पोस्ट किस बारे में लिखी गई है।

4. Paragraph Use ना करें मेटा डिस्क्रिप्शन के लिए

आप अपने मेटा डिस्क्रिप्शन के लिए पोस्ट मैं से या फिर पैराग्राफ का यूज़ ना करें आप अलग से मेटा डिस्क्रिप्शन के लिए खुद से एक मेटा डिस्क्रिप्शन लिखें।

अगर आप पोस्ट का डिस्क्रिप्शन लिखेंगे तो आप उसको अच्छे से डिफाइंड कर पाएंगे।

5. Attractive Words का प्रयोग करे

अगर आप अपने मेटा डिस्क्रिप्शन के लिए आकर्षित शब्दों का प्रयोग जरुर करें। इससे होता यह है कि यूजर्स का ध्यान आपके पोस्ट के ऊपर पड़ता है, और वह आपके पोस्ट के ऊपर क्लिक करता है। इसीलिए आपको अट्रैक्टिव वर्ड्स का प्रयोग करना चाहिए, ताकि आपका CTR मे ज्यादा से ज्यादा IMPROVE हो।

इसे भी पढ़े :– गूगल ऐडसेंस अकाउंट अप्रूवल टिप्स

Meta Description Benefits in Hindi

मेटा डिस्क्रिप्शन लिखने का सबसे बड़ा बेनिफिट यह होता है, कि यह गूगल को मदद करता है, कि तुम्हारी पोस्ट किस query को आंसर करती है। अगर साफ-साफ शब्दों मे कहा जाए तो यह आपके ब्लॉग पोस्ट कि गूगल पर विजिबिलिटी मेटा डिस्क्रिप्शन की वजह से होती है। और यह आपके ब्लॉग पोस्ट की रैंकिंग को भी सर्च इंजन में इंप्रूव करता है। अगर आप मेटा डिस्क्रिप्शन अच्छे से नहीं करते हैं, तो गूगल अपने हिसाब से ही आपकी पोस्ट में जो अच्छा लग रहा होता है, उसे मेटा डिस्क्रिप्शन में दिखाने लगता है। मेटा डिस्क्रिप्शन ताकि आपकी ब्लॉग पोस्ट गूगल परफारमेंस मैं Improve हो सके।

Meta Description क्या है? Meta Description Kaise Likhte Hai

आज मैंने आपको meta description kya hai और meta description Kaise Likhte hai यह आपको पसंद आया होगा।

जैसा की मैंने आपको शुरू में बताया था कि SEO के अंदर बहुत सारी छोटी छोटी basic चीजें होती है, जो कि आप की वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में और रैंकिंग मैं इंप्रूव करती हैं यह सारी बेसिक चीजें आपको सीखनी होंगी और अप्लाई भी करनी होंगी। तभी आप अपने ब्लॉग पोस्ट की विजिबिलिटी और रैंकिंग में सुधार कर पाएंगे।

आशा करता हूं कि आज की पोस्ट पढ़कर आपको बेहद पसंद आई होगी।

इसे भी पढ़े :–

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *