What Is Digital Marketing | डिजिटल मार्केटिंग क्या है?

What is Digital Marketing

डिजिटल मार्केटिंग क्या है: जैसा कि आप लोग जानते हैं आज का दौर जो है वो Digital का है आपको यदि Digital Marketing के बारे में नहीं पता है तो आप लोग दूसरों से थोड़े पीछे हो सकते हो क्योंकि हमें अपने बदलते युग के साथ साथ चलना है ताकि कहीं हम पीछे ना रह जाए।

Table of Contents

और यह बात बिजनेस में भी लागू होती है कि जब लोग घर घर जाकर अपनी चीजों के बारे में दूसरों को बताते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है आज का दौर Digital का दौर है और इससे समय की भी बचत होती है और हमारा प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच पाता है।

आज के समय में Digital Marketing एक बहुत बढ़िया उपाय है, Digital Marketing के जरिए आप अपने प्रोडक्ट की marketing भी कर सकते हैं वह भी कम समय में। यदि हम पिछले कुछ सालों की बात करें तो विज्ञापनों का शेयर काफी बदल गया है पहले के लोग अपने प्रोडक्ट को ऐसी जगह पर लगाते थे जहां भीड़ भाड़ होती थी जैसे की रेडियो, टीवी आदि का विज्ञापन करते थे ।

लेकिन आज के दौर में आपने देखा होगा आपको भीड़ भाड़ कहीं नहीं मिलती ऐसा इसलिए हो गया है कि आज के समय में लोग Social Media या Internet के जरिए से अपना प्रोडक्ट दूसरों को social media के जरिए या internet के जरिए से अपना प्रोडक्ट सेल करते हैं और इससे हम काफी कम समय में काफी ज्यादा लोगों तक अपना प्रोडक्ट सेल कर सकते हैं। अगर आपको अपना Business बूस्ट करना है तो आप Marketing छोड़कर Digital Marketing की और आएं और अपना Business को आगे बढ़ा सकते हैं।

मैंने कुछ आज विचार किए और सोचा कि आप लोगों को Digital Marketing के बारे में कुछ जानकारी दी जाए जिससे कि आपको Digital Marketing के बारे में पता चले, तो चलिए आज मैं आपको बताता हूं कि डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? | What is Digital Marketing

What is Digital Marketing: दो शब्दों का मेल है, यहां पर Digital का संबंध Internet से है और मार्केटिंग का संबंध विज्ञापन से है Digital Marketing एक ऐसा सोर्स है जहां पर बड़ी बड़ी कंपनी अपने प्रोडक्ट की Marketing, Electronics Media के जरिए से करवाती है और यह Traditional तरीके से बिल्कुल अलग है।

Digital Marketers को अलग-अलग मार्केटिंग Campaigns तैयार करके उसे किसी कंपनी की प्रोडक्ट को सेल करने में एक्सपेरिमेंट कराना होता है. और उन्हें इन Marketing Campaign को Analyze कराना होता है। और उन्हें यह भी देखना होता है कि लोग किस प्रकार के चीजों को ज्यादा पसंद कर रहे हैं, और कौन सी चीजों को देखकर वह चीजों को खरीद भी रहे हैं।

तो मेरा कहना है कि Digital Marketing एक पड़ा प्लेटफार्म बन गया है जिसके भीतर हमारी सारी Online Efforts अपने अंदर समा लेता है, Digital Business के लिए हमें Google Search और Social Media, Email और Website का इस्तेमाल किया जाता है और इससे हम ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जुड़ जाते हैं ।

एक बात यह भी है लोग पहले के समय में Offline Marketing करते थे लेकिन हम आज के समय में देखें तो लोग ज्यादा से ज्यादा Online Marketing करना पसंद करते हैं और ज्यादातर समय अपना Online Marketing में देते हैं ।

अब तो Marketing का सही तरीका यही है ऑडियंस को सही जगह और सही समय पर Connect करना है, इसीलिए आपको सोचना होगा कि आपको ऐसे लोग कहां मिल सकते हैं जिससे आप अपना Business बड़ा सकते हैं और इसका सही जवाब आपको मिलेगा Online जी हां आपको ऐसे लोग Online ही मिल सकते हैं।

Digital marketing क्यो जरूरी है?| डिजिटल मार्केटिंग se kya benefit hai

  • Digital marketing ऑफलाइन मार्केटिंग से ज्यादा पावरफुल होती हुई नजर आ रही है और जितनी भी बड़ी कम्पनी होती हैं उन्हे एक मार्केटिंग करने के लिए स्ट्रेटेजी का उपयोग करना पड़ता है, अगर हम Offline Marketing करें तो इसके अंदर ज्यादा की मात्रा में लागत लगती है और बेनिफिट बहुत कम मिलता है, अगर हम Online Marketing की बात करें तो इसमें कम लागत लगती है और बेनिफिट ज्यादा मिलता है इसीलिए आज के समय में ऑनलाइन मार्केटिंग लोग ज्यादा करते हैं तो आइए हम जानते हैं डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है।
  • हम Digital marketing के जरिए से अपने प्रोडक्ट की जानकारी बहुत ही कम समय में अपने कस्टमर तक पहुंचा सकते हैं।
  • Digital marketing से हम कम लागत लगाकर और अच्छा मुनाफा ले सकते हैं।
  • Digital marketing के जरिए से अपनी टारगेट ऑडियंस को अपना प्रोडक्ट दिखा कर और उस प्रोडक्ट को भेजा जा सकता है।
  • हम Digital marketing से अपने प्रोडक्ट को कई तरीकों से बेच सकते हैं जैसे की वीडियो प्रमोशन, करके सर्च इंजन आदि।
  • Digital marketing के जरिए से अपनी कंपनी की ब्रैंड वैल्यू काफी ज्यादा बढ़ जाती है जिसकी वजह से लोग हमारी कंपनी का नाम याद रखते हैं।
  • Digital marketing के जरिए से हम अपने प्रोडक्ट को किसी भी देश में प्रमोट कर सकते हैं।

Digital marketing कितने प्रकार की होती है | Types of Digital Marketing in Hindi

Types of Digital Marketing in Hindi: सामान्य तौर पर देखा जाए तो डिजिटल मार्केटिंग के कई अलग अलग प्रकार हैं, तो आइए इन कुछ प्रकार के बारे में हम आपको कुछ जानकारी देते है –

1.Search Engine Optimization (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन)

Search Engine Optimization के द्वारा हम अपनी वेबसाइट को या फिर अपने प्रोडक्ट को रैंक कराना होता है। अगर आप अपनी वेबसाइट का SEO अच्छे से करते हैं तो आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ेगा जिससे कि हमारी वेबसाइट या फिर हमारा प्रोडक्ट Google Search Engine पर नंबर वन पर Show होगा।

2. Social Media Marketing (सोशल मीडिया मार्केटिंग)

Social Media Marketing से हम अपने ब्रांड और कंटेंट को सोशल मीडिया के द्वारा प्रमोट करवाते हैं जिससे कि हमारे ब्रांड में ट्रैफिक और लीड जेनरेशन बढ़ता है और इससे हमारी बिजनेस में काफी बढ़ोतरी होती है।

3. Email Marketing (ईमेल मार्केटिंग)

Email Marketing का इस्तेमाल लोगों से बातचीत करने के लिए उपयोग किया जाता है ईमेल मार्केटिंग का इस्तेमाल कंटेंट डिस्काउंट्स और इवेंट को प्रमोट करने के लिए किया जाता है।

4. Video Marketing (वीडियो मार्केटिंग)

Video Marketing एक ऐसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिस पर लोगों की संख्या करोड़ों में है, या फिर आप यह कह सकते हैं कि यूजर्स की संख्या सबसे ज्यादा यूट्यूब पर है, यहां पर लोग तरह-तरह की वीडियो बनाकर यूट्यूब पर डालते हैं लोग इससे एंटरटेनमेंट होते हैं, और यहां पर बड़ी-बड़ी कंपनियां अपने प्रोडक्ट की पप्रोमेशन करवाने के लिए आते है।

5. Affiliate Marketing (एफिलिएट मार्केटिंग)

Affiliate Marketing एक ऐसी मार्केटिंग है जिसमें कि आपको कमीशन मिलता है अगर हम किसी के प्रोडक्ट को अपनी वेबसाइट में प्रमोट करते हैं अगर कोई व्यक्ति उस लिंक से प्रोडक्ट खरीदता हैं तो कुछ परसेंट कमीशन हमें मिलता है और कुछ परसेंट कंपनी के मालिक को चला जाता है।

6. Pay Per Click (पे पर क्लिक)

Pay Per Click एक ऐसा मेथड है जिससे अपनी वेबसाइट के ट्रैफिक को बिल्ड किया जा सकता है जिसमें कि हमको पब्लिशर को पैसे देने होते हैं अगर हमारे ऐड मैं क्लिक हो तब एक बहुत ही पॉपुलर पीपीसी है जिसका नाम गूगल एडवर्ड्स है।

7. Content Marketing (कंटेंट मार्केटिंग)

Content Marketing से हम अपना ब्रांड प्रमोशन ट्रेफिक ग्रोथ लीड जेनरेशन कर सकते हैं।

8. Automation Marketing (ऑटोमेशन मार्केटिंग)

Automation Marketing उसको कहा जाता है जो सॉफ्टवेयर यह किसी दूसरे टूल्स का इस्तमाल होता है मार्केटिंग प्रमोशन के लिए जिससे कि कुछ रिपेटिटिव टास्क्स जैसे कि ईमेल, सोशल मीडिया और दूसरी वेबसाइट एक्शन को ऑटोमेशन कर दिया जाता है।

9. Mobile Marketing (मोबाइल मार्केटिंग)

Mobile Marketing डिजिटल मार्केटिंग का एक बड़ा हिस्सा माना जाता है जिसके द्वारा स्मार्टफोन, आईपैड का उपयोग करने वाले लोगों को प्रोडक्ट की जानकारियां मिल जाती है मोबाइल मार्केटिंग द्वारा विज्ञापन कई प्रकार से चलाए जाते हैं जिनमें सोशल मीडिया, मोबाइल एप्लीकेशन, वेबसाइट आदि के द्वारा लोगों को जानकारी दी जाती है मोबाइल मार्केटिंग का सबसे बड़ा महत्व यह भी है कि इसके द्वारा उन लोगों को भी टारगेट किया जा सकता है जो लोग एंड्रॉयड फोन से दूर रहते है उनको हम टैक्स मैसेज के जरिए से प्रोडक्ट की जानकारी दे सकते हैं।

10. Apps Marketing (एप्स मार्केटिंग)

Apps Marketing इंटरनेट पर कई प्रकार के ऐप्स बनाकर लोगों तक पहुंचाती है और उन एप्स के द्वारा अपनी कंपनी का प्रचार करने के लिए एप्स का इस्तेमाल करते है, आज के समय में लोग स्मार्टफोंस का बहुत ज्यादा उपयोग करते हैं और जितनी भी बड़ी-बड़ी कंपनियां है वह अपने एप्स बनाती है और लोगों तक पहुंचाती है।

Digital Marketing कोर्स कैसे करें?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से किया जा सकता है ऑनलाइन माध्यम से आप गूगल पर फ्री डिजिटल मार्केटिंग कोर्स सीख सकते है और गूगल की तरफ से आपको एक सर्टिफिकेट मिलता है और ऑफलाइन माध्यम से आप अपने शहर या किसी नजदीकी इंस्टिट्यूट से कर सकते हैं।

Digital Marketing Course करने के लिए योग्यता?

Digital Marketing Course करने के लिए आपके पास 12th पास तक की योग्यता होनी चाहिए, अगर आप किसी मल्टीनेशनल कंपनी मैं जॉब करते हैं तो उसके लिए आपके पास डिजिटल मार्केटिंग का सर्टिफिकेट होना चाहिए या फिर पोस्ट ग्रेजुएशन होना जरूरी है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कितने महीने का होता है?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स 3 से 6 महीने का होता है यह अलग-अलग अवधि के होते हैं यह आपके इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है कि वह आपको कितने महीने के लिए कोर्स ऑफर करते है।

Digital Marketing के लोकप्रिय कोर्सेज

  1. CDMM
  2. SEO
  3. SMM
  4. E-mail Marketing
  5. Inbound Marketing
  6. Growth Hacking
  7. Web Analytical
  8. Mobile Marketing

Digital Marketing Course की फीस कितनी लगती है?

आपको डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस 10,000 से लेकर 50000 तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है।

Digital Marketing सैलरी?

जॉब प्रोफाइल सैलरी
डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर 5-6 लाख
SEO स्पेशलिस्ट 3-4 लाख
सोशल मीडिया मैनेजर 6-7 लाख
कंटेंट मार्केटिंग स्पेशलिस्ट 4-5 लाख
पे पर क्लिक या SEM एनालिस्ट 3-4 लाख
कंटेंट राइटर 4-5 लाख

FAQ

डिजिटल मार्केटिंग se kya benefit hai ?

  • हम Digital marketing के जरिए से अपने प्रोडक्ट की जानकारी बहुत ही कम समय में अपने कस्टमर तक पहुंचा सकते हैं.
  • Digital marketing से हम कम लागत लगाकर और अच्छा मुनाफा ले सकते हैं .

डिजिटल मार्केटिंग क्या है?

Digital Marketing Kya Hai दो शब्दों का समाहार है, यहां पर Digital का संबंध Internet से है और मार्केटिंग का संबंध विज्ञापन से है Digital Marketing एक ऐसा सोर्स है जहां पर बड़ी बड़ी कंपनी अपने प्रोडक्ट की Marketing, Electronics Media के जरिए से करवाती है और यह Traditional तरीके से बिल्कुल अलग है।

डिजिटल मार्केटिंग प्रक्रिया में कौन से चरण सम्मिलित हैं?

डिजिटल मार्केटिंग प्रक्रिया के बारे मे कहे, तो आप जितना भी ऊपर जानकारी पढ़े हैं जो इस ब्लॉग पोस्ट मे प्रकार के रूप मे लिखा है, वह साड़ी डिजिटल मार्केटिंग के प्रक्रिया मे ही आते हैं .

डिजिटल मार्केटिंग से आप क्या समझते है?

डिजिटल मार्केटिंग एक ऑनलाइन मार्केटिंग के रूप में जाना जाता है इससे हम अपने बिजनेस को प्रमोट करके अपने बिजनेस को बिल्ड कर सकते है।

परमालिंक से डिजिटल मार्केटिंग का कौन सा पहलू प्रभावित होता है?

परमालिंक के मदद से डिजिटल मार्केटिंग मे किसी भी Websites की किस विषय पर ब्लॉग लिखा है. इसके बारे मे गूगल को जानने मे मदद करता है, ताकि वह सही लोगो तक पहुँच सके. आसान शब्दो मे कहे तो परमालिंक का डिजिटल मार्केटिंग मे सबसे अहम् पहलू प्रभावित होता है

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस कितनी होती है?

आपको डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस 10,000 से लेकर 50000 तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है?

डिज सर्च इंजन मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, एफिलिएट मार्केटिंग और सोशल मीडिया मार्केटिंग आदि।

डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है?

डिजिटल मार्केटिंग इसलिए जरूरी है क्योंकि अपने प्रोडक्ट को ग्राहकों के पास आसानी से पहुंचा सकते हैं वह भी कम समय में इस प्रकार आपके व्यापार में मुनाफा होगा और इसके द्वारा आप बिजनेस में लाखों रुपए कमा सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार कितने होती है

  1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन
  2. सोशल मीडिया मार्केटिंग
  3. ईमेल मार्केटिंग
  4. वीडियो मार्केटिंग
  5. एफिलिएट मार्केटिंग
  6. पे पर क्लिक
  7. कंटेंट मार्केटिंग
  8. ऑटोमेशन मार्केटिंग
  9. मोबाइल मार्केटिंग
  10. एप्स मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कितने महीने का होता है?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स 3 से 6 महीने का होता है यह अलग-अलग अवधि के होते हैं यह आपके इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है कि वह आपको कितने महीने के लिए कोर्स ऑफर करते है।

इसे भी पढ़े:-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *